कोरोना को रोकने के लिए योगी आदित्यनाथ ने दिए Serological Survey के आदेश

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए यूपी सरकार नाकाम होती नजर आ रही हैं | जब कोरोना प्रदेश में तेजी से फ़ैल रहा हैं तब सरकार ने दूसरे राज्यों की नक़ल कर कदम उठा रही हैं | इसी बीच खबर मिल रही हैं कि प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा फ़ैसला किया है | बता दें कि दिल्ली सरकार की नक़ल कर अब योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में बढ़ते कोरोपण संक्रमण को आगे बढ़ने से रोकने के लिए एंटीबॉडी का पता लगाने की क़वायद शुरू करने के आदेश दिए हैं | सरकार की तैयारी है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण स्तर का पता लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग सेरोलॉजिकल सर्वे कराएगा |

ये भी पढ़ें : अयोध्या : राम मंदिर के शिलान्यास के लिए प्रशासन तैयार

डम खून के नमूने लेकर एंटीबॉडी की जांच

सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक इसकी शुरुआत 5 अगस्त की जाएगी | इस सर्वे मे लोगों के रैंडम खून के नमूने लेकर एंटीबॉडी की जांच होगी और पता किया जायेगा कि कैसे नमूनों मे प्रतिरोधक क्षमता कैसी है? इसके लिए यूपी का स्वास्थ्य विभाग एक लाख किट खरीद रहा है | जिससे ये परीक्षण जगह-जगह किया जाएगा | जिसकी शुरुआत प्रदेश के सबसे ज्यादा संक्रमित जिले आगरा और मेरठ से होगी |

ये भी पढ़ें : अब कोरोना के साथ जीने की डाले आदत, युवाओं को भी मौत का खतरा: WHO

दरअसल सरकार का मानना है कि संक्रमण को आगे बढ़ने से रोकने या जोखिम के स्तर के बारे में वास्तविक डेटा का पता लगाने का एकमात्र तरीका लोगों में एंटी बॉडी की उपस्थिति का परीक्षण है | सेरो सर्वे एक विश्व स्तर पर इस्तेमाल किया जाने वाला विश्वसनीय तरीक़ा है, जो एक निश्चित संक्रमण के खिलाफ एंटीबॉडी के लेवल को मापता है | इस तकनीक का उपयोग इसलिए भी किया जाता है कि बड़े पैमाने पर टीकाकरण की जांच की जा सके और लोगों की प्रतिरोधक क्षमता का स्तर देखा जा सके | बता दें कि दिल्ली ,महाराष्ट्र के बाद उत्तर प्रदेश तीसरा राज्य होगा जो इसकी शुरुआत करने जा रहा हैं |

ये भी पढ़ें : ऑफिस में काम करने वालों के लिए फायदेमंद है मालासन

ये भी पढ़ें : रक्षाबंधन पर नक्षत्रों की कैसी रहेगी दशा

ये भी पढ़ें : इस रक्षाबंधन घेवर के साथ

Related posts