राहत ! आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को 80 करोड़ डॉलर की मदद

नई दिल्ली : दुनिया में फैले कोरोना के चलते कई देश अर्थव्यवस्था की मार झेल रहे है लेकिन इसी बीच खबर आ रही है कि पाकिस्तान काफी वक्त से नकदी संकट से जूझ रहा है | इसी बीच पाकिस्तान को G -20 सम्मलेन के बाद से थोड़ी रहत मिलते दिख रही है | दरअसल, पाकिस्तान को जी20 के सदस्य देशों से आर्थिक सहायता मिली है | एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को जी20 के 14 सदस्य देशों ने आर्थिक मदद मुहैया करवाई है | इस मदद के तौर पर पाकिस्तान को 80 करोड़ अमेरिकी डॉलर की ऋण राहत मिली है | जबकि पाकिस्तान को अभी सऊदी अरब और जापान सहित समूह के छह अन्य देशों से अभी भी पुष्टि की जरूरत है |

जानकारी के मुताबिक विश्व के 20 सबसे ज्यादा धनी देशों के समूह से पाकिस्तान ने इस साल अगस्त तक 25.4 अरब डॉलर की राशि हासिल की थी | वहीं इस साल 15 अप्रैल को जी20 देशों ने पाकिस्तान के साथ ही कुल 76 देशों के ऋण पुनर्भुगतान को रोकने का ऐलान किया था | इस ऐलान के मुताबिक इनका ऋण पुनर्भुगतान मई से दिसंबर 2020 तक रोक दिया गया था | हालांकि इसके लिए प्रत्येक देश की ओर से औपचारिक अनुरोध करने की शर्त लगाई गई थी |

रिपोर्ट में सरकारी सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि पिछले सात महीनों के दौरान 14 देशों ने पाकिस्तान के साथ अपने समझौतों की पुष्टि की | इसमें पाकिस्तान को अब तक 80 करोड़ डॉलर की मदद की गई है | रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दो अन्य देशों ने भी पाकिस्तान को मदद देने के लिए संपर्क किया था |

छह देशों ने नहीं की पुष्टि

वहीं आर्थिक मामलों के मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक छह देशों ने अभी तक ऋण राहत संबंधी समझौतों की पुष्टि नहीं की है. वहीं पाकिस्तान ने अभी तक जापान, रूस, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और यूनाइटेड किंगडम के साथ ऋण पुनर्गठन के नियमों को अंतिम रूप नहीं दिया है