अब कोरोना के साथ जीने की डाले आदत, युवाओं को भी मौत का खतरा: WHO

नई दिल्ली। कोरोना का कहर हर देश में फैला है, आज इस समस्या में पूरा विश्व लड़ रहा है, वहीं अभी तक वैक्सीन नही बन पाई है, तो वही WHO ने कहा कि अब युवाओं को कोरोना के साथ जीने की आदत डाल लेनी चाहिये, WHO ने चेतावनी दी है कि अगर युवा ये समझ रहे हैं कि उन्हें कोरोना से खतरा नहीं तो ऐसा गलत है।

युवाओं की न सिर्फ संक्रमण से मौत हो सकती है, बल्कि वे कई कमजोर वर्गों तक इसे फैलाने का काम भी कर रहे हैं। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान टेड्रॉस ने कहा कि कोरोना के साथ जीना होगा व दूसरों को भी सुरक्षित रखना होगा, यही जीने का सही तरीका होगा, WHO ने कहा कि कई देशों के हालात काफी बिगड़ते नजर आ रहे है जो कि काफी चिंताजनक है।

भारत में दोगुनी तेजी से फैल रहा है कोरोना

भारत में कोरोना के मरीज़ों की संख्या में हर दिन रिकॉर्ड इज़ाफा हो रहा है। 24 घंटे में कोरोना के सबसे ज्यादा 55078 पॉजिटिव मरीज़ मिले है। इसके साथ ही अब देश में कुल मामले 16 लाख के पार पहुंच गए हैं। इस बीच अच्छी खबर ये है भारत ने कोरोना सैंपल टेस्ट टेस्टिंग में भी नया रिकॉर्ड बनाया है। 30 जुलाई को 6,42,588 सैम्पल की जांच की गई जो अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले 25 जुलाई को भारत में 4,42,263 सैम्पल की जांच की गई।